GK In Hindi General Knowledge : छिपकली को बिना मारे घर से भगाने के आसान तरीकें

GK In Hindi General Knowledge : छिपकली को बिना मारे घर से भगाने के आसान तरीकें – छिपकली ( Lizards ) घर का किराया मांगा जाए। बस डर के मारे भागेगी ही, क्योंकि इनको कमाना तो है नही, मुफ्त का घर और मुफ्त का भोजन। बिजली बिल भी इनसे वसूलना चाहियें। क्योंकि सबसे ज्यादा लाइट का फायदा यही उठा रही है। मतलब बिल हम भरे और मज़े ये ले। वैसे अगर इनको भगा दिया तो जो कीड़े मकोड़े आएंगे खास कर बरसात के दिनों में या उसके तुरंत बाद तो उनको कैसे खत्म करेंगे। यही तो है जो उन किट फतंगो को चट कर जाते है।

GK In Hindi General Knowledge : छिपकली को बिना मारे घर से भगाने के आसान तरीकें

फिर फिर अगर भगाना ही है तो इस दीपावली में जब घर सफाई करें उसके बाद बाहर से संपर्क वाले खिड़की और रोशनदान में घनी जाली लगवा ले। इससे आपके घर में छिपकली ( Lizards ) और किट आदि के आने की संभावना बहुत कम हो जायेगा, साथ मे मच्छरों से भी कुछ राहत मिलेगा। मुख्य गेट पर भी जाली वाला दरवाजा जो अपने आप बंद हो सके लगवा ले। तो आपका घर एक तरह से मच्छरदानी की तरह हो जाएगा। हवा भी सर्कुलेट होगा और बीमारी वाले इन जीवों से भी मुक्ति मिलेगी।

Interesting Facts About Lizards

या घर के बाहर रंगीन तेज रोशनी वाली बल्ब लगाए। सभी किट फतंगे उसी रोशनी के आस पास उड़ेंगे और आपके घर की छिपकली ( Lizards ) भोजन के लालच में घर से बाहर उसी रोशनी के आस पास चली जायेगी। या लक्मन रेखा वाली चाक आती है , लकीर बना कर घर को सुरक्षित कर ( मुझे इसका अनुभव नही है पर पैकेट पर छिपकली कॉकरोच आदि का फोटो देख कर लगा इनको भगाने में इसका प्रयोग हो सकता है)

छिपकली की पूँछ कटने के बाद फिर से कैसे उग जाती हैं? GK In Hindi About Lizards

जब कभी हमारे शरीर के किसी हिस्से पर चोट लग जाती है तो कुछ वक्त बाद उसका घाव भर जाता है और हमारे शरीर का वो हिस्सा अक्सर पहले की तरह सामान्य भी हो जाता है लेकिन शरीर का कोई अंग कटने की स्थिति में वो अंग वापिस बन नहीं पाता है लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि छिपकली की पूँछ अगर कट जाए तो फिर से उग सकती है। ऐसे में आप भी इस रोचक घटना के बारे में जानने के लिए उत्सुक होंगे। तो चलिए, आज इसी बारे में जानते हैं कि आखिर छिपकली की कटी हुयी पूंछ दोबारा क्यों उग जाती है.

छिपकली की पूँछ का वापिस उगना कोई चमत्कार नहीं होता है बल्कि पुनरुद्भवन की प्रक्रिया होती है। इस प्रक्रिया में जीवों के कटे हुए अंग वापिस उग जाते हैं और ऐसा सिर्फ छिपकली की पूँछ के साथ ही नहीं होता है बल्कि ऑक्टोपस, तारा मछली और फ्लैटवर्म जैसे जीवों में भी ये प्रक्रिया पायी जाती है। स्टारफिश की कोई भुजा कट जाने पर वापिस आ जाती है और फ्लैटवर्म एक ही कोशिका से अपने शरीर को फिर से तैयार कर पाने की क्षमता रखता है।

 Lizards General Knowledge : छिपकली में कौन सा जहर पाया जाता है?

इसकी त्वचा में भी किसी प्रकार का कोई जहर नहीं होता है. . जहरीली छिपकली के लिए शरीर में विष ग्रंथि का होना बहुत जरूरी है. जिसे वेनम कहा जाता है. भारत में पाई जाने वाली छिपकलियों की 1500 प्रजातियों में से कोई भी जहरीली नहीं होती.

यह भी जाने :