केरल के इस गांव में एक दिन के लिए शादी करते हैं किन्नर, अगले दिन हो जाती हैं विधवा | GK In Hindi

GK In Hindi General Knowledge केरल के इस गांव में एक दिन के लिए शादी करते हैं किन्नर, अगले दिन हो जाती हैं विधवा : इस दुनिया में कई तरह के लोग रहते हैं, जो लिंगों में बंटे हैं और हर लिंग के अलग-अलग रीति-रिवाज होते हैं, जिनको माना जाता है ! ऐसे में किन्नरों की बात की जाए तो हर कोई उनके बारे में इतना नहीं जानता या यूं कहा जाए उनकी दुनिया बेहद ही रहस्यमयी होती है ! उनसे जुड़े कुछ ऐसे रहस्य होते हैं जो दुनिया के सामने कभी नहीं आते हैं !

केरल के इस गांव में एक दिन के लिए शादी करते हैं किन्नर, अगले दिन हो जाती हैं विधवा | GK In Hindi General Knowledge

केरल के इस गांव में एक दिन के लिए शादी करते हैं किन्नर, अगले दिन हो जाती हैं विधवा
केरल के इस गांव में एक दिन के लिए शादी करते हैं किन्नर, अगले दिन हो जाती हैं विधवा

जैसे आपने कभी सुना होगा जब भी कोई किन्नर मर जाता है तो उसका अंतिम संस्कार रात में किया जाता है ताकी कोई देख न सके ! इससे भी ज्यादा कई और ऐसी रहस्यमयी बातें हैं जो किन्नर की दुनिया को और ज्यादा सहस्यमय बना देती हैं, जिससे कभी भी कोई इनके रहस्यों से पर्दा नहीं उठा पाते हैं ! वैसे ये बात बहुत कम लोग ही जानते है कि किन्नर भी शादी करते हैं !

आपको यह जानकर काफी हैरानी होगी कि इनकी शादी केवल एक ही दिन के लिए होती है ! चौंकाने वाली बात यह है कि किन्नर जिससे शादी करते हैं वो उनके भगवान ही होते हैं ! किन्नरों के भगवान अर्जुन और नाग कन्या उलूपी की संतान इरावन हैं, जिनको लोग अरावन के नाम से आज भी जानते हैं !

एक दिन के लिए होती है शादी और अगले दिन हो जाती है विधवा | GK In Hindi

पौराणिक कथाओं की माने तो किन्नरों को एक अलग ही स्थान दिया जाता है ! वहीं किन्नरों के रीति रिवाज काफी अलग और हटकर होते हैं ! ऐसा ही एक रिवाज है तमिलनाडु के एक गांव में जहां आज भी एक ऐसा त्योहार मनाया जाता है, जिसमें सभी किन्नर बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं ! तमिलनाडु के विल्लीपुरम के कूवागम गांव में भगवान आरवन के लिए एक खास त्यौहार मनाया जाता है, जिसमें सभी किन्नर उनसे शादी करती हैं और उसके अगले दिन ही विधवा हो जाती हैं ! विवाह के अगले दिन से ही इरावन की मूर्ति को पूरे शहर में घुमाते है !

ये है इस रहस्या का सच | GK In Hindi General Knowledge

इसके बाद मूर्ति को तोड़ दिया जाता है ! इसके साथ ही किन्नर को अपना सारा श्रृंगार उतारकर एक विधवा की तरह विलाप करने लगती है ! अब आपके इसके पीछे के रहस्य के बारे में भी बता देते है ! महाभारत के युद्ध में पांडवों में मां काली की पूजा की और इस पूजा में कोई एक राजकुमार की बलि देनी थी ! इस काम के लिए कोई भी राजकुमार आगे नहीं आया ! इरावन ने सामने से आकर कहा कि मैं इस काम के लिए तैयार हूं ! इरावन ने इस काम के लिए एक शर्त भी रख दि की वह बिना शादी किये यह बलि पर नहीं चढ़ेगा !

भगवान कृष्ण ने लिया था मोहिवी रूप

GK In Hindi General Knowledge पांड्वो के लिए एक बेहद ही मुश्किल परिस्थिति सामने आ गई कि सिर्फ एक दिन के लिए कौन राजकुमारी इरावन के साथ विवाह करेगी और अगले दिन विधवा हो जाएगी ! अब इस समस्या का समाधान भगवान श्री कृष्ण ने निकाल लिए और खुद ही मोहिनी रूप धारण करके सामने आ गए ! भगवान श्री कृष्ण में मोहिनी रूप धारण करके इरावन से विवाह कर लिया और अगले दिन ही इरावन की बली दी गई ! इसके बाद श्री कृष्ण ने विधवा बन कर विलाप भी किया ! इस घटना को याद करके अब सभी किन्नर इरावन को ही अपना भगवान मानते है और एक रात के लिए विवाह करते है !

लाफिंग गैस की खोज किसने की थी | GK In Hindi General Knowledge