Post Office की इस स्कीम में मिलता है FD से ज्यादा रिटर्न, लोग दौड़कर जा रहे है Investment , देंखें

Post Office NSC Scheme : सरकार की तरफ से देश के नागरिकों की बचत को बढ़ावा देने के लिए ही इस राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र ( National Savings Certificate ) को शुरू किया है। इसलिए, हिंदू अविभाजित परिवार और ट्रस्ट इसमें निवेश नहीं कर सकते हैं। इसके अलावा, अनिवासी भारतीय जो देश से बाहर रहते हैं वे भी डाकघर एनएससी प्रमाणपत्र ( Post Office NSC Scheme ) नहीं खरीद सकते हैं। यह योजना केवल व्यक्तिगत भारतीय निवासियों के लिए खुली है और केवल वही इसमें हिस्सा ले सकते है।

Post Office NSC Scheme

डाकघर ( Post Office ) के द्वारा अपने देश के नागरिकों के लिए बहुत साड़ी स्कीम चलाई जा रही है जिनसे लोगों को बहुत लाभ मिलता है। डाकघर की बहुत सारी स्कीम ऐसी भी है जो आपको घर बैठे कमाई करने का मौका देती है। इस आर्टिकल में आपको डाकघर की ऐसी ही एक स्कीम के बारे में हम बताएँगे जिससे जुड़कर आप बम्पर कमाई तो कर ही सकते है साथ में अपने सपने भी पुरे कर सकते है।

जैसा की हमने आपको ऊपर बताया है की ये स्कीम पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) की तरफ से चलाई जा रही है। इस स्कीम का नाम है NSC यानि की नेशनल सेविंग स्कीम। NSC में निवेश करने पर डाकघर की तरफ से अच्छा खासा रिटर्न मिलता है। लेकिन जैसा की आप सभी जानते है की स्कीम चाहे कोई भी हो उसके लिए सरकार या फिर स्कीम वाली संस्था की तरफ से कुछ शर्ते और मानदंड निर्धारित किये जाते है। सभी शर्तों को पूरा करके देश का कोई भी नागरिक डाकघर की NSC में निवेश करके अच्छा मोटा पैसा कमाई कर सकता है। NSC ( National Savings Certificate ) में निवेश के लिए कौन कौन सी शर्ते होती है और इसमें भाग लेने की प्रक्रिया क्या होती है ये सब आगे आपको इस आर्टिकल में हम बताने जा रहे है।

Post Office NSC Scheme Latest Update

सरकार की तरफ से देश के नागरिकों की बचत को बढ़ावा देने के लिए ही इस राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र ( National Savings Certificate ) को शुरू किया है। इसलिए, हिंदू अविभाजित परिवार और ट्रस्ट इसमें निवेश नहीं कर सकते हैं। इसके अलावा, अनिवासी भारतीय जो देश से बाहर रहते हैं वे भी एनएससी प्रमाणपत्र नहीं खरीद सकते हैं। यह योजना केवल व्यक्तिगत भारतीय निवासियों के लिए खुली है और केवल वही इसमें हिस्सा ले सकते है।

National Savings Certificate में निवेश करने के लिए जरुरी पात्रता शर्तें

हिंदू अविभाजित परिवार, ट्रस्ट, प्राइवेट और पब्लिक लिमिटेड कंपनियों (पीएलसी) को एनएससी में निवेश करने की अनुमति नहीं है। कोई भी ट्रस्ट भी इसके लिए आवेदन नहीं कर सकता। आवेदन करने वाला व्यक्ति भारतीय नागरिक होना चाहिए। अनिवासी भारतीयों (एनआरआई) को एनएससी ( National Savings Certificate ) में निवेश करने की अनुमति नहीं है। नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट खरीदने की कोई न्यूनतम या अधिकतम आयु नहीं है। इसको किसी भी आयुवर्ग का व्यक्ति खरीद सकता है।

NSC की विशेषताएं और लाभ क्या क्या है?

एनएससी ( National Savings Certificate ) में निवेश करने पर साधारण FD से अधिक ब्याज मिलता है। फ़िलहाल में 7.7% की दर से गारंटीशुदा रिटर्न मिल रहा है। शुरू में NSC VIII इश्यू और NSC IX इश्यू करके दो प्रमाणपत्र होते थे जिसमे से NSC IX इश्यू को साल 2015 में बंद कर दिया गया था। फ़िलहाल NSC VIII इश्यू में ही निवेश किया जा सकता है।

इसमें 1961 की धारा 80सी के प्रावधानों के तहत 1.5 लाख तक का आयकर बचत का दावा किया जा सकता है। नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट ( National Savings Certificate ) में आप कम से कम 100 रूपए तक निवेश कर सकते हो और अधिकतम की कोई भी सिमा नहीं है। वर्तमान में, ब्याज दर 7.7% प्रति वर्ष है। वित्त वर्ष 2023-24 की पहली तिमाही के लिए, जिसे सरकार हर तिमाही में संशोधित करती है। यह वार्षिक रूप से संयोजित होता है लेकिन परिपक्वता पर देय होगा।

किसी भी डाकघर ( Post Office ) से इस योजना को खरीद सकते हैं। साथ ही सर्टिफिकेट को एक पोस्ट ऑफिस ब्रांच से दूसरी ब्रांच में ट्रांसफर करना भी आसान है। आप अपने निवेश पर जो ब्याज अर्जित करते हैं, वह चक्रवृद्धि हो जाता है और डिफ़ॉल्ट रूप से पुनर्निवेशित हो जाता है। मैच्योरिटी पर आपको पूरी मैच्योरिटी वैल्यू मिलेगी।

NSC में आवेदन के लिए कौन कौन से दस्तावेजों की जरुरत पड़ेगी।

पहचान प्रमाण, जैसे पासपोर्ट, स्थायी खाता संख्या (पैन) कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वरिष्ठ नागरिक आईडी, या कोई अन्य आधिकारिक सरकारी पहचान, नवीनतम फोटो और एड्रेस प्रूफ में बिजली बिल, पासपोर्ट, फोन बिल या बैंक स्टेटमेंट।

PNB Bank New Update : पीएनबी ग्राहक 31 अगस्त तक पूरा कर लें ये काम,नहीं तो आपका खाता